चरवाहा और चंदा

चरवाहा और चंदा सुबह होते ही छोटे से गांव अमर गढ़ में चहलपहल शरू हो गई । पांच बजे तो चूल्हे पर रोटी पकाने की थपाके सुनाई देने लगी । घर मे से कचरा निकल ने लगा , गायो का दोहन शरू हो गया और जैसे सोया हुआ गांव जग गया । भुवन भी जाग …

चरवाहा और चंदा Read More »